12th fail movie:कौन हैं IPS Manoj Sharma जिनके ऊपर 12वीं फेल फिल्म बनी हैं

12वीं फेल(12th Fail movie) एक 2023 की हिंदी फिल्म है, जो IPS अधिकारी मनोज कुमार शर्मा के जीवन पर आधारित है। फिल्म में विक्रांत मैसी ने IPS Manoj Sharma की भूमिका निभाई है। फिल्म की कहानी मनोज शर्मा(Manoj Sharma) के संघर्षों और उनकी सफलता की कहानी है।

मनोज शर्मा का जन्म मध्य प्रदेश के मुरैना जिले के एक छोटे से गांव में हुआ था। उन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा अपने गांव में ही प्राप्त की। 12वीं कक्षा में पढ़ाई के दौरान, मनोज शर्मा को सभी विषयों में फेल कर दिया गया। इस घटना से मनोज शर्मा को बहुत निराशा हुई।

हालांकि, IPS Manoj Sharma ने हार नहीं मानी। उन्होंने UPSC परीक्षा की तैयारी करने का फैसला किया। उन्होंने दिल्ली में एक कोचिंग संस्थान में दाखिला लिया और कड़ी मेहनत से पढ़ाई की।

चौथे प्रयास में, मनोज शर्मा ने UPSC परीक्षा पास कर ली। उन्होंने IPS की परीक्षा पास की और एक पुलिस अधिकारी के रूप में अपना करियर शुरू किया।

IPS Manoj Sharma वर्तमान में महाराष्ट्र कैडर के एक IPS अधिकारी हैं। उन्होंने अपने करियर में कई महत्वपूर्ण कार्य किए हैं। उन्होंने अपराधियों को गिरफ्तार करने और लोगों की मदद करने के लिए अपनी जान पर खेल दी है।

12वीं फेल फिल्म मनोज शर्मा की प्रेरणादायक कहानी है। यह फिल्म दिखाती है कि कैसे एक सामान्य व्यक्ति कड़ी मेहनत और दृढ़ संकल्प से अपने सपनों को पूरा कर सकता है।

मनोज शर्मा(IPS Manoj Sharma) के संघर्ष

मनोज शर्मा ने अपने जीवन में कई संघर्षों का सामना किया है। उन्होंने 12वीं कक्षा में फेल होने के बाद भी हार नहीं मानी। उन्होंने UPSC परीक्षा पास करने के लिए कड़ी मेहनत की। उन्होंने दिल्ली में एक कोचिंग संस्थान में दाखिला लिया और प्रतिदिन 12 से 14 घंटे पढ़ाई की।

मनोज शर्मा को अपने आर्थिक स्थिति के कारण भी कई संघर्षों का सामना करना पड़ा। उनके परिवार की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं थी। उन्होंने कोचिंग फीस के लिए पैसे जुटाने के लिए कई तरह के काम किए। उन्होंने अपने गांव में टेम्पो चलाया, दिल्ली में कुत्ते टहलाये और कई तरह के छोटे-मोटे काम किए।

मनोज शर्मा(IPS Manoj Sharma) की प्रेरणा

मनोज शर्मा को अपने परिवार से प्रेरणा मिली। उनके माता-पिता और दादी ने उन्हें हमेशा सपनों को पूरा करने के लिए प्रोत्साहित किया। मनोज शर्मा को अपने शिक्षकों से भी प्रेरणा मिली। उनके शिक्षकों ने उन्हें हमेशा कड़ी मेहनत करने और लक्ष्यों को हासिल करने के लिए प्रेरित किया।

मनोज शर्मा की कहानी लाखों युवाओं के लिए प्रेरणा है। यह दिखाती है कि कैसे एक सामान्य व्यक्ति कड़ी मेहनत और दृढ़ संकल्प से अपने सपनों को पूरा कर सकता है।

Leave a Comment