वास्तु शास्त्र के अनुसार इन 10 कारणों से धन की बरकत नहीं होती

धन की बरकत होना हर किसी की चाहत होती है। लेकिन कई बार ऐसा होता है कि हम अच्छी खासी कमाई करते हैं, लेकिन हमारे पास पैसा नहीं टिकता है। ऐसे में वास्तुशास्त्र की मदद लेना फायदेमंद हो सकता है। वास्तुशास्त्र के अनुसार घर में कुछ ऐसे दोष हो सकते हैं जो धन की बरकत को रोकते हैं। इन दोषों को दूर करने से घर में धन की बरकत बढ़ सकती है।

वास्तु शास्त्र क्या है

वास्तु शास्त्र एक प्राचीन भारतीय वास्तुकला का विज्ञान है। यह विज्ञान घर, मंदिर, भवन, आदि के निर्माण से संबंधित है। वास्तु शास्त्र के अनुसार, किसी भी इमारत के निर्माण में दिशा, आकार, और स्थान का विशेष ध्यान रखा जाता है। वास्तु शास्त्र का मानना है कि इन कारकों का प्रभाव इमारत में रहने वाले लोगों के जीवन पर पड़ता है।

वास्तुशास्त्र का महत्व

वास्तु शास्त्र एक प्राचीन भारतीय विद्या है जो भवन निर्माण के सिद्धांतों का अध्ययन करती है। वास्तु शास्त्र के अनुसार, भवन निर्माण के समय दिशाओं, ऊर्जा और प्रकृति के नियमों का ध्यान रखना चाहिए। वास्तु शास्त्र का मानना है कि सही दिशाओं और ऊर्जा का प्रयोग करके घर में सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह बढ़ाया जा सकता है। इससे घर में रहने वाले लोगों के जीवन में सुख, समृद्धि और शांति आती है।

वास्तुशास्त्र के अनुसार इन 10 कारणों से धन की बरकत नहीं होती

1.ईशान कोण में गंदगी

वास्तुशास्त्र के अनुसार, घर की उत्तर-पूर्व दिशा को ईशान कोण कहा जाता है। यह दिशा धन और समृद्धि का प्रतीक है। इस दिशा में कूड़ादान या कचरा रखने से धन की बरकत नहीं होती है।

ईशान कोण में गंदगी होने से नकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह बढ़ जाता है। यह ऊर्जा धन के आगमन में बाधा डालती है। इसलिए, यह जरूरी है कि ईशान कोण को हमेशा साफ-सुथरा रखा जाए।

2.कबाड़ का ढेर

वास्तु शास्त्र के अनुसार घर में कबाड़ जमा करके रखने से नकारात्मक ऊर्जा आकर्षित होती है। यह धन की बरकत को रोकता है। घर की छत पर या सीढ़ियों के आसपास कबाड़ जमा करके रखने से विशेष रूप से धन की बरकत नहीं होती है। कबाड़ जमा करके रखने से घर में अस्त-व्यस्तता फैल जाती है। इससे नकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह बढ़ता है, जो धन की बरकत को रोकता है।

कबाड़ को हटाने के उपाय:

  • घर की छत पर या सीढ़ियों के आसपास जमा हुए कबाड़ को हटा दें
  • अनावश्यक सामान को त्याग दें।
  • घर को साफ-सुथरा रखें।

3.अग्निकोण में गेस्ट रूम

वास्तुशास्त्र के अनुसार, घर की दक्षिण-पूर्व दिशा को अग्निकोण कहा जाता है। यह दिशा धन और समृद्धि का प्रतीक है। इस दिशा में गेस्ट रूम बनाने से धन आने में रुकावट आती है।

इसका कारण यह है कि अग्निकोण में आग का तत्व होता है। आग धन को आकर्षित करती है, लेकिन अगर इस दिशा में गेस्ट रूम बनाया जाता है, तो आग का प्रभाव कम हो जाता है। इससे धन आने में रुकावट आती है।

अगर आपके घर में अग्निकोण में गेस्ट रूम है, तो आप इसे दूर करने के लिए उपाय

  • गेस्ट रूम को किसी अन्य दिशा में स्थानांतरित करें।
  • गेस्ट रूम में लाल रंग का प्रयोग करें।
  • गेस्ट रूम में धन से संबंधित वस्तुओं को रखें।

इन उपायों से अग्निकोण में धन का प्रभाव बढ़ेगा और घर में धन की बरकत होगी।

4.उत्तर-पूर्व की ओर ढलान

वास्तुशास्त्र के अनुसार, घर की ढ़लान उत्तर-पूर्व की ओर नहीं होनी चाहिए। इससे धन का आगमन रुक जाता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि उत्तर-पूर्व दिशा को ईशान कोण कहा जाता है। यह दिशा धन और समृद्धि का प्रतीक है। इस दिशा में ढलान होने से धन का मार्ग अवरुद्ध होता है और धन की बरकत नहीं होती है।

यदि आपके घर की ढ़लान उत्तर-पूर्व की ओर है, तो आप इसे ठीक करने के लिए उपाय

  • यदि ढलान बहुत अधिक है, तो आप इसे मिट्टी या कंकड़ से भरकर समतल कर सकते हैं।
  • यदि ढलान कम है, तो आप इसे पौधों या झाड़ियों से ढक सकते हैं।
  • यदि आपके घर में छत है, तो आप छत पर पानी की टंकी या अन्य भारी वस्तु रखकर ढलान को रोक सकते हैं।

5.बेडरूम में आइना

वास्तुशास्त्र के अनुसार, बेडरूम में आइना लगाना अशुभ माना जाता है। इससे नकारात्मक ऊर्जा आकर्षित होती है, जिससे धन की बरकत नहीं होती है। इसके अलावा, बेडरूम में आइना लगाने से नींद की गुणवत्ता प्रभावित होती है और तनाव बढ़ सकता है।

बेडरूम में आइना लगाने से बचने के लिए उपाय

  • बेडरूम में आइना लगाने से बचें।
  • यदि आइना लगाना आवश्यक है, तो उसे बिस्तर के सिरहाने के विपरीत लगाएं।
  • आइना को हमेशा बंद रखें।
  • यदि आइना बड़ा है, तो उसे दो टुकड़ों में काटकर अलग-अलग दीवारों पर लगाएं।

6.आलमारी का गलत स्थान

वास्तुशास्त्र के अनुसार, घर में आलमारी का स्थान भी बहुत महत्वपूर्ण होता है। आलमारी को हमेशा दक्षिण की ओर रखना चाहिए। उत्तर की ओर आलमारी रखने से धन की बरकत नहीं होती है। ऐसा इसलिए है क्योंकि उत्तर दिशा में ईशान कोण होता है। ईशान कोण धन और समृद्धि का प्रतीक होता है। इस दिशा में आलमारी रखने से धन की नकारात्मक ऊर्जा को आकर्षित करती है।

आलमारी को दक्षिण की ओर रखने से धन की सकारात्मक ऊर्जा आकर्षित होती है। इससे घर में धन की बरकत बढ़ती है।

आलमारी का गलत स्थान से बचने के लिए उपाय

यदि आपके घर में आलमारी उत्तर की ओर है, तो उसे दक्षिण की ओर स्थानांतरित कर दें। इससे घर में धन की बरकत बढ़ सकती है।

7.टूटी-फूटी चीजें

टूटी-फूटी चीजें नकारात्मक ऊर्जा को आकर्षित करती हैं। इससे धन का नाश होता है। इसलिए घर में टूटी-फूटी चीजों को रखने से बचना चाहिए। टूटी-फूटी चीजों को त्याग देने से घर में सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह बढ़ता है और धन की बरकत होती है।

टूटी-फूटी चीजें से बचने के लिए उपाय

  • घर में टूटी-फूटी चीजों को न रखें।
  • टूटी-फूटी चीजों को त्याग दें।
  • घर में नया सामान खरीदें।

8.पकता पानी

वास्तुशास्त्र में टपकता पानी को एक बहुत ही अशुभ माना जाता है। यह धन का नाश करने वाला माना जाता है। वास्तु के अनुसार, पानी जीवन का प्रतीक है और इसका निरंतर बहाव धन की वृद्धि का प्रतीक है। लेकिन जब पानी टपकता है, तो यह धन की बर्बादी का प्रतीक है।

टपकता पानी घर में नकारात्मक ऊर्जा को आकर्षित करता है। इससे घर में कलह और संघर्ष होता है। साथ ही, इससे आर्थिक परेशानियां भी बढ़ती हैं।

यदि आपके घर में कहीं भी पानी टपक रहा है, तो उसे तुरंत ठीक कर लें। इससे आपके घर में सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह बढ़ेगा और धन की बरकत होगी।

टपकते पानी को दूर करने के उपाय

  • टपकते पानी के स्थान को साफ-सुथरा रखें।
  • टपकते पानी के स्थान पर एक छोटा सा पौधा लगाएं।
  • टपकते पानी के स्थान पर एक लाल रंग का टुकड़ा रखें।

9.ईशान कोण में पौधे

वास्तुशास्त्र के अनुसार, घर की उत्तर-पूर्व दिशा को ईशान कोण कहा जाता है। यह दिशा धन और समृद्धि का प्रतीक है। इस दिशा में पौधे लगाने से धन की बरकत नहीं होती है।

इसका कारण यह है कि ईशान कोण में पृथ्वी तत्व का वास होता है। पौधे जल तत्व से संबंधित होते हैं। जब दोनों तत्व एक साथ आते हैं, तो इससे नकारात्मक ऊर्जा का निर्माण होता है। यह ऊर्जा धन के आगमन में बाधा डालती है।

10.लाल रंग का अभाव

वास्तुशास्त्र में लाल रंग को धन और समृद्धि का प्रतीक माना जाता है। घर में लाल रंग का प्रयोग करने से धन की बरकत बढ़ती है। इसलिए, घर में लाल रंग का प्रयोग करना चाहिए। लाल रंग का प्रयोग करने से घर में सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह बढ़ता है। यह ऊर्जा धन को आकर्षित करती है।

conclusion

वास्तु दोषों को दूर करने के इन उपायों को करने से वास्तु दोष दूर हो सकते हैं और घर में धन की बरकत बढ़ सकती है।

Also Read: वास्तु टिप्स घर में लक्ष्मी पाने के कुछ सरल उपाय: घर में ही बरसेगा धन का झरना! लक्ष्मी खुद आएंगीं आपके घर, बस करें ये 5 आसान उपाय!

वास्तु टिप्स: गलत जगह पेड़ लगाए तो बर्बाद हो जाएगा घर! जानिए शुभ दिशाएं, फिर देखें धन-दौलत का खजाना!


Leave a Comment