Chandra grahan 2023 : जानिए इस दिन क्या करें और क्या न करें

Chandra grahan क्या है?

चंद्र ग्रहण एक खगोलीय घटना है जो तब होती है जब पृथ्वी सूर्य और चंद्रमा के बीच आ जाती है और सूर्य की किरणें चंद्रमा तक नहीं पहुंच पाती हैं। चंद्र ग्रहण तीन प्रकार के होते हैं: पूर्ण चंद्र ग्रहण, आंशिक चंद्र ग्रहण और अर्ध-विभाजित चंद्र ग्रहण।

Chandra grahan 2023 कब और कहां लगेगा?

chandra grahan 2023 in india date and time: 28 अक्टूबर को लगेगा। यह एक पूर्ण चंद्र ग्रहण होगा और भारत में भी दिखाई देगा। चंद्र ग्रहण का समय इस प्रकार होगा:

  • चंद्र ग्रहण का प्रारंभ: रात 11:32 बजे
  • चंद्र ग्रहण का चरम: रात 1:06 बजे
  • चंद्र ग्रहण का अंत: रात 2:24 बजे
  •  

Chandra grahan का विज्ञान

चंद्र ग्रहण तब होता है जब सूर्य, पृथ्वी और चंद्रमा एक सीध में आ जाते हैं। इस स्थिति में पृथ्वी सूर्य के प्रकाश को रोक लेती है और चंद्रमा तक नहीं पहुंचने देती। चंद्रमा पृथ्वी की छाया में चला जाता है और उसकी चमक कम हो जाती है या पूरी तरह से गायब हो जाती है।

चंद्र ग्रहण के धार्मिक और सांस्कृतिक पहलू

भारत में चंद्र ग्रहण को एक महत्वपूर्ण घटना माना जाता है। हिंदू धर्म में, चंद्र ग्रहण को एक अशुभ घटना माना जाता है। ऐसी मान्यता है कि चंद्र ग्रहण के दौरान पृथ्वी पर नकारात्मक ऊर्जा का प्रभाव बढ़ जाता है। इस कारण से चंद्र ग्रहण के दौरान कुछ धार्मिक अनुष्ठान करना और कुछ कार्य करना वर्जित माना जाता है।

Chandra grahan 2023 के दौरान सावधानियां

  1. चंद्र ग्रहण के दौरान भोजन करना, सोना और कुछ धार्मिक अनुष्ठान करना वर्जित माना जाता है।
  2. गर्भवती महिलाओं को चंद्र ग्रहण के दौरान तेज धूप में निकलने से बचना चाहिए।
  3. चंद्र ग्रहण के बाद स्नान करना और घर को शुद्ध करना आवश्यक माना जाता है।

Chandra grahan 2023 सुरक्षित रूप से कैसे देखें

Chandra grahan 2023 को नग्न आंखों या दूरबीन से देखना सुरक्षित है। हालाँकि, चंद्र ग्रहण के दौरान भी, सूर्य को सीधे देखने से बचना ज़रूरी है। ऐसा करने से आपकी आंखों को नुकसान पहुंच सकता है

Chandra grahan 2023 का ज्योतिषीय महत्व

ज्योतिष शास्त्र में चंद्र. ग्रहण को महत्वपूर्ण घटना माना जाता है। वे अक्सर परिवर्तन, परिवर्तन और नई शुरुआत से जुड़े होते हैं। Chandra grahan 2023  वृषभ राशि में घटित होगा। इससे पता चलता है कि ग्रहण का वित्त, सुरक्षा और भौतिक संपत्ति पर महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ सकता है।

Leave a Comment